शादी के लिए न्‍यूनतम उम्र लड़के व लड़कियों के लिए भिन्‍न जनहित याचिका दायर

विवाह के लिए न्‍यूनतम उम्र का निर्धारण किए जाने पर सवाल उठाते हुए याचिका दाखिल की गई है और इसमें लैंगिक असमानता का आरोप लगाया गया है।

नई दिल्‍ली,  विवाह के लिए न्‍यूनतम उम्र के मामले पर दिल्‍ली हाई कोर्ट में बुधवार को एक याचिका दाखिल की गई। याचिका में कहा गया है कि मामले में उम्र का निर्धारण लड़के के लिए अलग व लड़कियों के लिए अलग किया गया है जो लैंगिक समानता के विरुद्ध है। विवाह के लिए लड़कों की 21 वर्ष और लड़कियों की 18 वर्ष न्‍यूनतम उम्र बताई गई है।

भाजपा नेता और वकील अश्‍विनी कुमार उपाध्‍याय ने अपनी याचिका में दावा किया है कि लड़के लड़कियों के लिए न्‍यूनतम वैवाहिक उम्र का निर्धारण हमारे पितृसत्‍तात्‍मक समाज को दर्शाता है क्‍योंकि इसके पीछे कोई वैज्ञानिक तथ्‍य नहीं है।

इसके पहले उन्‍होंने सरकार को राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम’ को राष्ट्र गान ‘जन गण मन’ के समान दर्जा और सम्मान देने के लिए  राष्ट्रीय बनाने का निर्देश देने का अनुरोध करते हुए एक याचिका दाखिल की थी जिसे खारिज कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

तीन देशों की यात्रा से लौटे पीएम

नई दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और फ्रांस की यात्रा ...

आतंकवाद के बाद अब बारी नक्सल समस्या की

नई दिल्ली, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में नक्सलियों के खिलाफ चल रहे अभियानों ...

तमिलनाडु: कांचीपुरम में मंदिर के पास बम धमाका

कांचीपुरम,तमिलनाडु में कांचीपुरम जिले के एक मंदिर के पास एक अज्ञात चीज के फटने से ...