गर्भपात का अपराधीकरण न करने पर सुप्रीम कोर्ट सहमत

गर्भपात का अपराधीकरण न करने पर सुप्रीम कोर्ट सहमत, केंद्र को नोटिस

गर्भपात व बच्‍चे पैदा करने को लेकर महिलाओं को स्‍वतंत्र अधिकार संबंधित याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगा है।

नई दिल्‍ली,गर्भपात के संबंध में फैसला लेने के अधिकार संबंधित दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को नोटिस जारी किया है। याचिका में कहा गया है कि गर्भपात को अपराधीकरण से बाहर करने का निर्देश दिया जाए ताकि महिलाएं बच्‍चे को पैदा करने के संबंध में अपना फैसला ले सकें। इसके साथ ही याचिका में यह कहा गया है कि मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्‍नेंसी एक्‍ट महिलाओं के अधिकार का हनन करती है।

तीन महिलाओं ने सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर करते हुए कहा कि महिलाओं को उनके प्रजनन और गर्भपात के बारे में फैसला लेने का अधिकार होना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का एम्‍स में निधन

नई दिल्‍ली,: भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ...

मजबूत इच्छाशक्ति से पीएम मोदी ने उठाया कदम

[अमित शाह]। आजादी के बाद हुए 17 लोकसभा चुनावों में देश ने 22 सरकारें और 15 ...

मध्य प्रदेश के पूर्व CM बाबूलाल गौर का निधन

  मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता बाबूलाल गौर का आज सुबह निधन ...