LIVE: राहुल ने फाइनल किए नाम, 4 बजे होगा मुख्यमंत्रियों का एलान, डिप्टी सीएम बनाने की चर्चा

नई दिल्ली। जीत मिलने के बाद कांग्रेस के सामने मुख्यमंत्री चुनने के विवाद का पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के दखल से निपटारा हो गया है। तीनों राज्यों, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान का मुख्यमंत्री कौन बनेगा इसे लेकर पार्टी में सहमति नहीं बनी थी। तीनों राज्यों में कुर्सी के दावेदार भी पीछे हटते नहीं दिख रहे थे। ऐसे में मुख्यमंत्री पर अंतिम फैसला पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को लेना था। अब ख़बर है कि राहुल गांधी ने राजस्थान और मध्यप्रदेश के लिए सीएम का नाम फाइनल कर दिया है। शाम 4 बजे इसका एलान होगा।

इससे पहले राहुल गांधी ने राजस्थान के सीएम पद के दावेदारों सचिन पायलट और अशोक गहलोत को दिल्ली बुलाया और बातचीत की। इसके अलावा राहुल गांधी बाकी राज्यों के केंद्रीय पर्यवेक्षकों से मुलाकात कर उनसे भी ग्राउंड रिपोर्ट ली।

लाइव अपडेट्स
– राजस्थान और मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री कौन होगा, इसका एलान शाम 4 बजे होगा। सूत्रों के मुताबिक राजस्थान के लिए गहलोत और मध्यप्रदेश के लिए कमलनाथ का नाम तय माना जा रहा है। उधर, सिंधिया को डिप्टी सीएम बनाए जाने की भी ख़बरें मिल रही हैं।

– सचिन पायलट और अशोक गहलोत के साथ राहुल गांधी की बैठक खत्म हो गई है। बैठक खत्‍म होने के बाद पहले राहुल के घर से बाहर सचिन पायलट निकले, उसके कुछ समय बाद अशोक गहलोत बाहर आए।

– राहुल गांधी ने सचिन पायलट और अशोक गहलोत को अपने आवास पर बुलाया है। राहुल दोनों नेताओं से भी उनकी दावेदारी पर बात करेंगे। उसके बाद ही कोई फैसला हो पाएगा। दोनों नेता राहुल गांधी के घर पहुंचे चुके हैं। जहां उनसे बातचीत जारी है।

– राजस्थान के निर्दलीय विधायक महादेव सिंह खंडेला ने अशोक गहलोत को सीएम बनाने की मांग की। खंडेला ने कहा, ‘राजस्थान की जनता अशोक गहलोत को सीएम देखना चाहती है। मैं भी यही चाहता हूं और मुझे लगता है कि हाईकमान भी यही फैसला लेगी।’

– राजस्थान के निर्दलीय विधायक राजकुमार गौड़ ने कहा, ‘अशोक गहलोत दो बार राजस्थान के सीएम रहे हैं। उनके पास अनुभव है। राजस्थान की जनता और विधायक उन्हें ही सीएम देखना चाहते हैं।’

– राजस्थान का सीएम किसे बनाया जाए, इसे लेकर राहुल गांधी और पर्यवेक्षकों के बीच मंथन जारी है। वहीं, दूसरी ओर निर्दलीय विधायकों के बयान आ रहे हैं। ज्यादातर विधायक अशोक गहलोत को सीएम देखना चाहते हैं।

– अशोक गहलोत और सचिन पायलट के समर्थक भी दिल्ली पहुंच गए हैं। दोनों के समर्थक कांग्रेस कार्यालय के बाहर अपने-अपने नेताओं को सीएम बनाने के लिए नारेबाजी कर रहे हैं।

– संसद के लिए जाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि विधायकों और कार्यकर्ताओं से राय ली जा रही है, सीएम पद पर जल्द ही फैसला हो जाएगा।

–  राजस्थान के पर्यवेक्षक के.के. वेणुगोपाल राहुल गांधी से मिलने पहुंचे हैं। वहीं, मल्लिकार्जुन खड़गे भी राहुल से मिलकर छत्तीसगढ़ के सीएम के लिए अपनी राय जता चुके हैं। अब अंतिम फैसला राहुल गांधी करेंगे।

– राजस्थान में सीएम के दावेदार सचिन पायलट और अशोक गहलोत, राहुल गांधी से मिलने दिल्ली पहुंच चुके हैं। उधर, राहुल गांधी ने पर्यवेक्षकों को भी मुलाकात के लिए बुलाया है। दोनों से बातचीत के बाद ही राहुल गांधी, राजस्थान के सीएम की घोषणा करेंगे।

– अशोक गहलोत ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘पर्यवेक्षकों ने शांतिपूर्ण तरीके से सभी की राय ले ली है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को (राजस्थान के सीएम उम्मीदवार पर) निर्णय लेना है। पर्यवेक्षक दिल्ली पहुंच चुके हैं। आज बातचीत होगी और निर्णय लिया जाएगा।’

राजस्थान के दावेदार

राजस्थान में वसुंधरा सरकार को सत्ता से बेदखल कर कांग्रेस सहयोगियों की मदद से सरकार बनाने जा रही है। यहां पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत और युवा नेता सचिन पायलट मुख्यमंत्री रेस में हैं। दोनों नेताओं के बीच मुख्यमंत्री पद के लिए खींचतान की ख़बरें आ रही हैं, दोनों के समर्थक अपने नेता को सीएम देखना चाहते हैं।

छत्तीसगढ़ के दावेदार

छत्तीसगढ़ में सीएम पद की चुनौती से निपटने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने मल्लिकार्जुन खड़गे को पर्यवेक्षक बनाया है। यहां सीएम पद की रेस में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल, पार्टी के वरिष्ठ नेता ताम्रध्वज साहू और प्रतिपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव का नाम चल रहा है। इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत का नाम भी सीएम पद के लिए लिया जा रहा है।

 

 मध्यप्रदेश के दावेदार

मध्यप्रदेश में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का नाम सीएम के लिए लगभग तय है। इससे पहले यहां ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिया जा रहा था। हालांकि, कल विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से कमलनाथ का नाम तय हुआ है और उस पर राहुल गांधी की मुहर बाकी है।

ये हैं इन तीन राज्यों के नतीजे
इन तीनों राज्यों में छत्तीसगढ़ को छोड़ दें तो कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस को 230 में 114 सीटों पर जीत मिली है, जबकि राजस्थान में 200 में 199 सीटों पर हुए चुनाव में 99 सीटें पार्टी की झोली में आई हैं।

दोनों ही जगह पार्टी को सरकार बनाने के लिए बसपा और निर्दलियों का समर्थन मिल गया है। इस तरह कांग्रेस का दावा है कि उसके मध्यप्रदेश में 122 विधायकों और राजस्थान में 105 से ज्यादा विधायकों  का समर्थन हासिल है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने 90 में से 68 सीटों पर भारी बहुमत से जीत हासिल की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने एकबार फिर आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है।

Shopian Encounter दक्षिण कश्मीर के दारमदोरा कीगम इलाके में हुई इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने ...

श्यामा प्रसाद मुखर्जी: कश्मीर में धारा 370 के प्रखर विरोधी उनकी मौत आज भी एक रहस्य ही है।

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आज के ही दिन जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में संदिग्ध ...

लोकसभा में शुक्रवार को तीन तलाक का मुद्दा फिर गूंजा

लोकसभा में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तीन तलाक बिल पेश किया लेकिन कांग्रेस ...